pm kisan yojanasarkari yojanaTrendingYojanaयोजना

PM Fasal Bima Yojana 2023 : किसानों के पास Fasal Bima के लिए आखिरी मौका! लिस्ट में ऐसे देखें अपना नाम|

PM Fasal Bima Yojana 2023 : पीएम फसल बीमा को लेकर एक बहुत ही अच्छी खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि फसल बीमा के लिए 3000 करोड़ रुपए मंजूर किए गए हैं। इससे किसानों को फसल नुकसान के मुआवजे की राशि का भुगतान किया जाएगा। किसानों को फसल नुकसान का मुआवजा जल्द से जल्द मिले इसके लिए सरकार की ओर से तैयारी की जा रही है। बताया जा रहा है कि विधानसभा चुनाव को देखते हुए सरकार किसानों को अपने पक्ष में करने में जुट गई है और एक बड़े कार्यक्रम में इस फसल मुआवजे की राशि को जारी करने का फैसला लिया गया है।

फसल विमा की लिस्ट देखने के लिए

यहा क्लिक करे

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार प्रदेश के 25 लाख से अधिक किसानों को जून माह में 3000 करोड़ रुपए का फसल बीमा दिया जाएगा। यह फसल बीमा 2021-2022 के दौरान प्राकृतिक आपदा से प्रभावित खरीफ और रबी फसलों के मुआवजे के रूप में किसानों को दिया जाएगा। बता दें कि वर्ष 2021-22 में प्राकृतिक आपदा से खरीफ और रबी की फसलें प्रभावित हुई थी, किसानों की फसलों को काफी नुकसान हुआ था। सरकार ने सर्वे कराकर बीमा कंपनियों को दावे प्रस्तुत किए थे, जिन्हें अब अंतिम रूप दिया जा रहा है।

योजना के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट्स

  • बैंक अकाउंट नंबर
  • आधार नंबर
  • किसान का पासपोर्ट साइज फोटो
  • किसान का आवासीय प्रमाण पत्र के लिए ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट आदि
  • खेत की जमीन या मालिक के कागज की फोटो कॉपी

किसानों के लिए ख़ुशी की लहर..! कल से इन दोनों योजनाओं का पूरा पैसा किसानों के खाते में जमा कर दिया जाएगा

फसल बीमा का प्रीमियम

इस योजना का लाभा उठाने के लिए एक फिक्स्ड प्रीमियम देना होगा. यह प्रीमियम काफी कम होता है. खरीफ की फसल (Kharif Crops) के लिए बीमा राशि का 2% प्रीमियम, रबी के लिए 1.5% प्रीमियम और बागवानी फसलों में अधिकतम 5% प्रीमियम के रूप में देना होगा. अगर आपकी फसल सूखा, आंधी, तूफान, बारिश, ओले आदि या किसी तरह की प्राकृतिक आपदा से खराब हो गई है, तो इसकी जानकारी 48 घंटे के अंदर बीमा कंपनी देनी होगी. उसके बाद कंपनी नुकसान के दावे का आकलन करेगी और फिर बीमा का पैसा खाते में आ जाएगा. PM Fasal Bima Yojana

India Post GDS Result 2023:- अभी-अभी जारी हुआ पोस्ट जीडीएस का रिजल्ट, यहाँ Result से चेक करें

किन किसानों को मिलता है फसल बीमा का लाभ

वे किसान जिनकी किसी प्राकृतिक आपदा के कारण 33 प्रतिशत से अधिक फसल खराब हो जाती है, उन्हें फसल बीमा मुआवजे का अधिकारी माना जाता है। इसके लिए किसान को फसल खराब होने की सूचना 72 घंटे की अवधि में अपनी फसल बीमा कंपनी के अधिकारियों को देनी होती है। इसके बाद कृषि विभाग के अधिकारी व फसल बीमा कंपनी के अधिकारी सर्वे करके नुकसान का आकलन करते हैं और रिपोर्ट तैयार करते हैं। इसी रिपोर्ट के आधार पर फसल बीमा का मुआवजा दिया जाता है। इसके लिए किसान को फसल बीमा क्लेम का फॉर्म भरना होता है। किसानों को फसल नुकसान के आधार पर बीमा कंपनी द्वारा मुआवजा दिया जाता है। PM Fasal Bima Yojana

Government Scheme 2023 : खुशखबरी : घर की मरम्मत के लिए मिलेंगे 70 हजार रुपए, आवेदन शुरू

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button