sarkari yojanaYojana

PM Awas Yojana 2023 : प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना क्या है..? यह देखें पूरी जाकारी

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना (Pradhan Mantri Gramin Awaas Yojana) एक सरकारी आवास योजना है जिसका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों को सस्ते आवास की प्राथमिकता से जोड़ना है। इस योजना को पूर्वी और पश्चिमी ग्रामीण क्षेत्रों के लिए पूरे देश में लागू किया जाता है। PM Awas Yojana 2023

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत, गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों को आवास के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना के अंतर्गत, सरकार द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार, आवासों की निर्माण की जाती है और गरीब परिवारों को सस्ते ऋण के माध्यम से प्रदान की जाती है। इसके साथ ही, कुछ क्षेत्रों में, सरकार द्वारा आवास बनाने के लिए निशुल्क कार्यक्रम भी चलाए जाते हैं।

यह योजना मुख्य रूप से गरीबी रेखा से नीचे के वर्गों के लिए है जो स्वयं के लिए एक सुरक्षित और गुणवत्ता से युक्त आवास नहीं खरीद सकते हैं। इसके अलावा, यह

पीएम आवास योजना के ₹250000 रूपये खाते में जमा होने लगे, 80 लाख घरकुल

लिस्ट की में अपना नाम चेक करें

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना क्या है

केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण योजना ग्रामीण प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण संचालित योजना है इस योजना का शुभारम्भ 25 जून,2015 को हुआ। इस योजना का उद्देश्य 2022 तक सभी को घर उपलब्ध करना है। इस के लिए सरकार 20 लाख घरो का निर्माण करवाएगी जिनमे से 18 लाख घर झुग्गी –झोपड़ी वाले इलाके में बाकि 2 लाख शहरों के गरीब इलाकों में किया जायेगा। https://www.youtube.com/watch?v=5QyYJ3yPEIE&ab_channel=ISHANLLB

सरकार ने इस योजना को 3 फेज’ में विभाजित किया है-

  1. पहला फेज अप्रैल 2015 को शुरू किया था और जिसे मार्च 2017 में समाप्त कर दिया गया है इसके अंतर्गत 100 से भी अधिक शहरों में घरो का निर्माण हुआ है।
  2. दूसरा फेज अप्रैल 2017 से शुरू हुआ है जो मार्च 2019 में पूरा होगा इसमें सरकार ने 200 से ज्यादा शहरों में मकान बनाने का लक्ष्य रखा है।
  3. तीसरा फेज अप्रैल 2019 में शुरू किया जाएगा और मार्च 2022 में समाप्त किया जाएगा जिसमे बाकि बचे लक्ष्य को पूरा किया जाएगा। PM Awas Yojana 2023 

प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी

PMAY सूची के तहत लाभार्थियों को घर की वार्षिक आय के आधार पर चार श्रेणियों में बांटा गया है।

लाभार्थी परिवार की वार्षिक आय
आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) 3 लाख रुपये तक
निम्न आय वर्ग (एलआईजी) 3 लाख रुपये से 6 लाख रुपये
मध्यम आय वर्ग-1 (MIG-1) 6 लाख रुपये से 12 लाख रुपये
मध्यम आय वर्ग-2 (MIG-2) 12 लाख रुपये से 18 लाख रुपये

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना का उद्देश्य

हमारे देश के ग्रामीण क्षेत्रो में रहने वाले आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग के लोग जो अपना खुद का पक्का घर बनाना चाहते है लेकिन आर्थिक स्थिति कमज़ोर होने की वजह नहीं बना पाते लेकिन अब प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना 2023 के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रो के कमज़ोर वर्गों के लोगो स्वयं का पक्का घर बनाने के लिए भारत सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान करना तथा गरीब लोगो के स्वयं का पक्का बनाने का सपना साकार करना | साथ ही पक्का शौचालय बनाने के लिए 12000 रूपये की सहायता भी दी जाएगी |

EWS LIG MIG I MIG II  
अधिकतम होम लोन राशि रु. 3 लाख तक रू 3-6 लाख 6-12 लाख रू रू 12-18 लाख
ब्याज़ सब्सिडी 6.50% 6.50% 4.00% 3.00%
अधिकतम ब्याज़ सब्सिडी राशि रु. 2,67,280 रु. 2,67,280 2,35,068 रू रु. 2,30,156
अधिकतम कारपेट एरिया 30 Sq. m. 60 Sq. m. 160 Sq. m. 200 Sq. m.

Gramin Awas Yojana के लाभार्थी

  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग
  • महिलाएं किसी भी जाति या धर्म की
  • मध्यम वर्ग 1
  • मध्यमवर्ग 2
  • अनुसूचित जाति
  • अनुसूचित जनजाति
  • कम आय वाले लोग

PMAY योजना लाभार्थी पात्रता 

पारिवारिक स्थिति

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत निर्धारित मापदंडों के अनुसार पति, पत्नी और अविवाहित बच्चों के परिवार को एक परिवार माना जाता है। इस योजना के तहत लाभ के लिए आवेदन करने वाले लाभार्थी के पास भारत के किसी भी हिस्से में अपने नाम पर या अपने परिवार के किसी सदस्य के नाम पर एक पक्का घर नहीं होना चाहिए।

घर का स्वामित्व

21 वर्ग मीटर से कम के पक्के मकान वाले लोगों को मौजूदा घर की वृद्धि के लिए शामिल किया जा सकता है।

आयु 

एक परिवार के वयस्क कमाने वाले सदस्यों को एक अलग घर माना जाता है और इस प्रकार, वो भी योजना के लाभार्थी हैं भले ही वैवाहिक स्थिति जो भी हो।

वैवाहिक स्थिति

विवाहित जोड़ों के मामले में, पति-पत्नी में से कोई या दोनों एक साथ संयुक्त स्वामित्व में, एकल घर के लिए पात्र होंगे, बशर्ते वे योजना के तहत परिवार की आय पात्रता मानदंडों को पूरा करते हों।

PMAY-ग्रामीण 

ग्रामीण क्षेत्रों में आवास की कमी को दूर करने के लिए सरकार ने 1 अप्रैल, 2016 से इंदिरा आवास योजना (IAY) को प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण (PMAY-G) के तौर पर पुनर्गठित किया। PMAY-G (या PMAY ग्रामीण) कार्यक्रम का उद्देश्य भारत के गांवों में कच्चे घरों की जगह पक्के घरों का निर्माण करना है। दिसंबर 2021 में कैबिनेट ने मार्च 2024 तक PMAY-ग्रामीण योजना के विस्तार को मंजूरी दी थी।

PMAY ग्रामीण के तहत निर्मित घरों की संख्या

PMAY-G के तहत 2024 तक 2.95 करोड़ घरों का लक्ष्य रखा गया है। PMAY-G योजना के तहत अब तक पूरे भारत में 1.90 करोड़ घर बनाए जा चुके हैं। PM Awas Yojana 2023 

आवास मंत्रालय द्वारा 2019 में उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, इस योजना के तहत एक घर बनाने में औसतन 114 दिन लगते हैं। PMAY-G योजना के तहत अब तक पूरे भारत में 1.26 करोड़ घर बनाए जा चुके हैं।

PMAY-G के तहत, एक लाभार्थी को मैदानी क्षेत्रों में 1.20 लाख रुपये और पहाड़ी राज्यों, उत्तर-पूर्वी राज्यों, कठिन क्षेत्रों, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख आदि में 1.30 लाख रुपये का पक्का घर बनाने के लिए 100% अनुदान दिया जाता है। PMAY-G योजना के तहत बनने वाले घरों का न्यूनतम आकार 25 वर्ग मीटर निर्धारित किया गया है।

PMAY-G के लाभार्थियों को MGNREGS (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना) के तहत अकुशल श्रम मजदूरी का समर्थन और स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण (SBM-G) के तहत शौचालयों के निर्माण के लिए 12,000 रुपये की और सहायता प्रदान की जाती है।

दिसंबर 2021 में कैबिनेट ने PMAY-ग्रामीण योजना को मार्च 2024 तक बढ़ाने की मंजूरी दी थी।

प्रधानमंत्री आवास योजना चालू है या नहीं?

केंद्र सरकार ने PMAY कार्यक्रम के दोनों घटकों की वैधता बढ़ा दी है।

पीएमएवाई-ग्रामीण कार्यक्रम 31 मार्च, 2024 तक वैध है।

पीएमएवाई-शहरी योजना दिसंबर 2024 तक वैध है।

हालांकि, इस योजना के तहत क्रेडिट-लिंक्ड सब्सिडी स्कीम (CLSS) का लाभ घर खरीदारों को 30 सितंबर, 2022 तक ही मिला था। स्पष्टता की कमी की वजह से भारत में अधिकांश बैंकों ने वर्तमान में लोन लेने वालों को CLSS देना बंद कर दिया है। इसके अलावा, किफायती आवास को बढ़ावा देने के लिए धारा 80EEA के तहत दिए जाने वाले लाभ 31 मार्च, 2022 को समाप्त हो गए।

PMAY के भाग/ कार्यक्षेत्र

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ‘2022 तक सभी के लिए आवास’ प्रदान करने के महत्वाकांक्षी लक्ष्य को योजना के चार कार्यक्षेत्रों के माध्यम से प्राप्त करने की परिकल्पना की गई है। इसमे शामिल है:

  1. इन-सीटू स्लम पुनर्विकास (आईएसएसआर): स्लम को भूमि पर पात्र स्लम निवासियों के लिए निजी भागीदारी के माध्यम से घरों का निर्माण करके मलिन बस्तियों के पुनर्वास के लिए खड़ा किया गया है।
  2. क्रेडिट-लिंक्ड सब्सिडी योजना (सीएलएसएस): यह नए घरों के निर्माण या मौजूदा घरों के नवीनीकरण के लिए कम ब्याज दरों पर 6 लाख रुपये से 12 लाख रुपये के बीच के गृह ऋण पर केंद्रीय सब्सिडी प्रदान करता है।
  3. साझेदारी में किफायती आवास (एएचपी): राज्यों को केंद्रीय एजेंसियों के माध्यम से या ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए निजी क्षेत्र के साथ साझेदारी में 1,50,000 रुपये की केंद्रीय सहायता से किफायती आवास परियोजनाओं का निर्माण करना है।
  4. लाभार्थी के नेतृत्व वाले व्यक्तिगत घर निर्माण / संवर्द्धन (बीएलसी): यह प्रावधान करता है कि ईडब्ल्यूएस श्रेणी से संबंधित लोग या तो एक नया घर बना सके या मौजूदा घर को 1,50,000 रुपये की केंद्रीय सहायता से बढ़ा सके। PM Awas Yojana 2023

PMAY के तहत सब्सिडी आप तक कैसे पहुंचेगी ?

एक बार PMAY कार्यक्रम के तहत सब्सिडी के लिए आपका आवेदन स्वीकृत हो जाने के बाद, धन को केंद्रीय नोडल एजेंसी (CNA) से बैंक (सरकारी दस्तावेजों में प्रमुख ऋण संस्थान या PLI के रूप में संदर्भित) में स्थानांतरित कर दिया जाता है, जहां से लाभार्थी ने अपना गृह ऋण उधार लिया है। बैंक तब इस राशि को उधारकर्ता के गृह ऋण खाते में जमा करेगा। यह पैसा तब आपके होम लोन के बकाया मूलधन से काट लिया जाएगा। इसलिए अगर आपको पीएमएवाई सब्सिडी के रूप में 2 लाख रुपये मिले हैं और आपकी बकाया ऋण राशि 30 लाख रुपये है, तो सब्सिडी के बाद यह घटकर 28 लाख रुपये हो जाएगी।

2023 में पीएम आवास योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

सबसे पहले, याद रखें कि केवल आधार कार्ड वाला उम्मीदवार ही PMAY योजना के लाभों के लिए आवेदन कर सकता है। ऑनलाइन आवेदन करने के लिए अपना आधार नंबर संभाल कर रखें और PMAY पोर्टल https://pmaymis.gov.in पर जाएं।

होमपेज पर, ‘नागरिक मूल्यांकन’ टैब के अंदर ‘ऑनलाइन आवेदन करें’ विकल्प पर क्लिक करें। अब, चार कार्यक्षेत्रों में से एक का चयन करें जिसके लिए आप आवेदन करना चाहते हैं।

2023 में PMAY  के लिए ऑफलाइन आवेदन कैसे करें?

योग्य उम्मीदवार सामान्य सेवा केंद्रों (सीएससी) पर उपलब्ध इस संबंध में फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं और भर सकते हैं। उन्हें PMAY सब्सिडी फॉर्म की खरीद पर 25 रुपये और GST का मामूली शुल्क देना होगा। सीएससी भारत के ग्रामीण हिस्सों में आवश्यक सार्वजनिक उपयोगिता सेवाओं का लाभ उठाने के लिए पहुंच केंद्र हैं https://www.youtube.com/watch?v=3VtAjSo4zAo&ab_channel=5paisa

PMAY होम लोन से जुड़ी याद रखने योग्य महत्वपूर्ण बातें

आधार अनिवार्य 

PMAY योजना के तहत सभी होम लोन खातों को लाभार्थी के आधार नंबर से जोड़ा जाएगा।

अवधि की समयसीमा 

सब्सिडी केवल 20 वर्षों की अधिकतम अवधि के लिए उपलब्ध है।

ब्याज दर में कोई रियायत नहीं

जिस ऋणदाता से आपने होम लोन लिया है, वह बैंक में प्रचलित ब्याज दर वसूल करेगा।

लोन ट्रांसफर चेतावनी

यदि आप अपने ऋणदाता को कम ब्याज दरों का लाभ उठाने के लिए स्विच करते हैं, भले ही आपने पहले ही सीएलएसएस के तहत ब्याज सबवेंशन ( माली मदद ) का लाभ उठाया हो, तो आप फिर से ब्याज सबवेंशन लाभ के लिए पात्र नहीं होंगे।

PMAY  के तहत होम लोन देने वाले बैंक कौन से हैं?

  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • एचडीएफसी बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • ऐक्सिस बैंक
  • आईडीएफसी फर्स्ट बैंक
  • बंधन बैंक
  • बैंक ऑफ इंडिया
  • आईडीबीआई बैंक
  • केनरा बैंक

PMAY  होम लोन प्रदान करने के लिए पात्र बैंक कौन से हैं?

बड़ी संख्या में बैंकों, आवास वित्त कंपनियों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, सहकारी बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों (एनएफसी) ने पीएमएवाई के विभिन्न कार्यक्षेत्रों के तहत गृह ऋण की पेशकश करने के लिए केंद्रीय नोडल एजेंसियों, हुडको, एसबीआई और एनएचबी के साथ जुड़े है।

आधिकारिक पीएमएवाई दस्तावेज के तहत औपचारिक रूप से प्राथमिक ऋण संस्थान (पीएलआई) के रूप में नामित, ये वित्तीय संस्थान, जो 2017 में उपलब्ध कराए गए आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार संख्या में 244 जितनी बड़ी हैं, कार्यक्रम के तहत अन्य ऋणों के साथ-साथ यह घर खरीदारों को क्रेडिट-लिंक्ड सब्सिडी भी ऑफ़र करेंगे। PMAY कार्यक्रम के तहत होम लोन पर क्रेडिट सब्सिडी की पेशकश करने वाले शीर्ष सरकारी और निजी ऋणदाताओं की सूची नीचे दी गयी है।

ग्रामीण आवास योजना पीएम 2023 की विशेषताएं

  • इस योजना के अंतर्गत 1 करोड़ आवास निर्माण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी ।
  • ग्रामीण आवास योजना 2023 के अंतर्गत आवास निर्माण के लिए जगह को 20 वर्ग मीटर से बढ़ाकर 25 वर्ग मीटर किया गया जायेगा जिसमे रसोई हेतु क्षेत्र भी शामिल है ।
  • इस योजना के तहत मैदानी क्षेत्रो में इकाई सहायता 1.20 लाख रूपये है और पर्वतीय क्षेत्रो में इकाई सहायता 1.30 लाख रूपये है ।
  • इस योजना की कुल लागत 1 ,30 075 करोड़ रूपये है जो केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा 60 :40 के अनुपात में वहन की जाएगी ।
  • ग्रामीण क्षेत्रो के परिवार का निर्धारण SECC 2011 के आकड़ो के आधार पर किया जायेगा ।
  • किसी राज्य में दुर्गम क्षेत्र का वर्गीकरण राज्य सरकारों को करना होगा । इस तरह का वर्गीकरण किसी अन्य प्रावधान के अंतर्गत राज्य में मौजूदा वर्गीकरण के आधार पर और मापदंड पर आधारित कार्यप्रणाली का प्रयोग करते हुए किया जायेगा ।
  • हिमाचल राज्य – जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड को भी इस श्रेणी में शामिल किया जायेगा ।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

  • शौचालय को Gramin Awas Yojana का एक अभिन्न अंग बना दिया गया है। शौचालय के निर्माण के पश्चात ही घर को पूर्ण माना जाएगा। सरकार द्वारा शौचालय निर्माण के लिए ₹12000 की राशि स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत उपलब्ध करवाई जाएगी।
  • इसके अलावा मनरेगा के अंतर्गत मकान निर्माण हेतु 90/95 व्यक्ति दिवस अकुशल श्रमिक मजदूरी का प्रावधान भी निर्धारित किया गया है।
  • प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत निर्माणित घरों में बिजली मंत्रालय की दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना/ सौभाग्य योजना के माध्यम से विद्युतीकरण किया जाएगा।
  • पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय की प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के माध्यम से मुफ्त एलपीजी कनेक्शन भी प्रदान किए जाएंगे।
  • इसके अलावा जल जीवन मिशन के अंतर्गत पाइप से जल पूर्ति उपलब्ध कराने का भी प्रयास किया जाएगा।
  • विधवा, अविवाहित और अलग व्यक्ति को छोड़कर मकान का आवंटन पति पत्नी के नाम में संयुक्त रूप से किया जाएगा।
  •  31 मार्च तक ग्रामीण महिलाओं के नाम पर 68 प्रतिशत आवास या तो अकेले या संयुक्त रूप से स्वीकृत किए गए हैं।
  • मकान निर्माण की अच्छी गुणवत्ता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से स्थानीय स्तर पर उपलब्ध सामग्री का उपयोग करके ग्रामीण राजमिस्ट्रियो को प्रशिक्षित करने के लिए प्रशिक्षण और प्रमाणन कार्यक्रम पूरे भारत में शुरू किया गया है।
  • 8 अप्रैल तक 1.18 लाख ग्रामीण राजमिस्त्रीयो को प्रशिक्षित किया जा चुका है।
  • कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान इस योजना के अंतर्गत मकान निर्माण का कार्य 45 से 60 दिन में पूर्ण कर लिया गया है जो कि पहले 125 दिनों में पूर्ण किया जाता था।

 पात्रता

  • आवेदक भारतीय निवासी होना चाहिए ।
  • PM Gramin Awas Yojana 2023 के तहत ऐसे परिवार जिनमे 16 से 59 वर्ष की आयु का कोई वयस्क सदस्य नहीं होना चाहिए ।
  • महिला मुखिया वाले परिवारों जिनमे 16 से 59 वर्ष की आयु का कोई वयस्क सदस्य नहीं होना चाहिए ।
  • ऐसे परिवार जिसमे 25 वर्ष से अधिक आयु का कोई साक्षर वयस्क सदस्य नहीं होना चाहिए । PM Awas Yojana 2023

 ज़रूरी दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • आवेदक का पहचान पत्र
  • आवेदक का बैंक खाता |बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Gramin Awas Yojana 2023 के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करे ?

इस योजना के अंतर्गत वही ग्रामीण क्षेत्र के लोग आवेदन कर सकते है जिनका नाम 2011  सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना सूचि में होगा |अगर आपका नाम इस सूचि में है तो आप क्षेत्रीय पंचायत से आपको ऑनलाइन रेजिस्ट्रेशन के लिए यूज़रनाम तथा पासवर्ड दिया जायेगा | PMAY Gramin 2023 के तहत आप इस यूज़र नाम तथा पासवर्ड से आवेदन फॉर्म भर सकते है और आवेदन करके ग्रामीण क्षेत्र के कमज़ोर वर्ग के लोग इस योजना का लाभ उठा सकते है और अपना पक्का घर बनाने का सपना पूरा कर सकते है | Gramin Awas Yojana 2023 के अंतर्गत आवेदन तीन चरणो में पूरा किया जायेगा |

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना एप्लीकेशन फॉर्म

ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रो के लाभार्थियों का चयन 2011 सामाजिक ,आर्थिक जाति जनगणना (SECC)के आकड़ो के अनुसार किया जायेगा | Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana 2023 के अंतर्गत इच्छुक लाभार्थी ऑनलाइन तथा ऑफलाइन आवेदन भी कर सकते है | इस योजना की Official Website http://pmayg.nic.in/ पर पंजीकरण कर सकते है तथा क्षेत्रीय पंजायत तथा जनसेवा केंद्र (CSC) के माध्यम से भी ऑनलाइन आवेदन कर सकते है |

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में कितना पैसा मिलता है

इस योजना के तहत लाभार्थियों को ₹120000 की सहायता राशि दी जाती है। यह राशि लाभार्थी को तीन आसान किश्तों में दी जाती है। आवेदन स्वीकृत होने के बाद घर की न्यू खुदाई के समय पहली किस्त दी जाती है। दूसरी किश्त आधा लिंटर होने पर दी जाती है और तीसरी और आखिरी क़िस्त पूर्ण लिंटर के समय इसे लाभार्थी के खाते में भेज दिया जाता है। इसके साथ ही लाभार्थी को अपने घर में शौचालय निर्माण कराने पर ₹12000 की सहायता राशि अलग से दी जाती है

आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • घर के सभी मेम्बरों का आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • बैंक पासबुक (पैसे इसी बैंक अकाउंट में आएगा)
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

प्रधानमंत्री आवास योजना से होने वाले लाभ

पीएम अवास योजना से उन सभी गरीबों को इसका लाभ मिलेगा जिनका नाम इस योजना में शामिल किया गया है और उनका पंजीकरण इस योजना में हो चुका है। इस योजना का लाभ शहरी गरीब हो या ग्रामीण गरीब सब को इसका लाभ मिलेगा। प्रधानमंत्री आवास योजना में सभी गरीबों को शामिल किया गया है इसमें अनुसूचित जाति  जनजाति सामान्य पिछड़ा वर्ग या अल्पसंख्यक पिछड़ा वर्ग, कोई भी गरीब परिवार इससे वंचित नहीं रहेगा।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना सम्बन्धित महत्वपूर्ण जानकारी

  1. PM ग्रामीण आवास स्कीम के अंतर्गत जो घर बनाये जाएंगे उनके लिए लाभार्थियों को आर्थिक, समाजिक व भू-जलवायु का भी ध्यान रखना पड़ेगा।  PM Awas Yojana 2023
  2. योजना के अंतर्गत बनाये जाने वाले घर में रसोईघर और अन्य सुविधाएं भी शामिल की गयी हैं।
  3. आवास योजना के तहत घर न्यूनतम एरिया 25 स्क्वायर फिट में बनाया जायेगा।
  4. ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को आवास निर्माण हेतु 75,000 रुपये दिए जाते थे ,जिसे अब बढ़ा कर 130000 रुपये कर दिया है।
  5. ग्रामीण इलाकों के जो भी नागरिक योजना के लिए आवेदन करेंगे उन्हें 1,30,000 रुपये प्रदान किये जाएंगे।
  6. शहरी क्षेत्रों के लोगों के लिए जो आवास निर्माण हेतु पहले 70,000 रुपये की धनराशि दी जाती थी जिसे अब बढ़ा कर 1,20,000 रुपये कर दिया गया है। PM Awas Yojana 2023
  7. PMAY के साथ सरकार द्वारा अन्य योजनाओं जैसे – उज्जवला योजना, स्वच्छ भारत अभियान आदि को भी जोड़ा गया है।

संपर्क करने की प्रक्रिया

  • कॉन्टेक्ट नंबर चेक करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट pmayg.nic.in पर जाएँ।
  • होमपेज पर Contact Us के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • आपके सामने कार्यालय सम्बन्धित अधिकारियों के कॉन्टेक्ट नंबर की लिस्ट खुल जाती है।
  • वहां से आप कॉन्टेक्ट नंबर और ई -मेल आईडी चेक कर सकते है।

प्रधानमंत्री Awas Mobile App Download कैसे करें ?

  • आवास मोबाइल एप्प को गूगल प्ले स्टोर पर सर्च कर सकते है।
  • आपको सर्च बॉक्स में AwaasApp टाइप करके करना होगा।
  • जिसके बाद एप्लीकेशन खुलकर आएगी इसके सामने दिए install बटन पर क्लिक करें।
  • जिसके बाद यह आपके फोन पर डाउनलोड हो जाएगी –

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button