governmentTrending

Land transfer record : अब सिर्फ 100 रुपए में कराएं जमीन की रजिस्ट्री।

Land And Property Transfer

Land transfer record: सरकार के नए फैसले के अनुसार भूमि और संपत्ति हस्तांतरण अब केवल 100 रुपये में भूमि और संपत्ति हस्तांतरण अब आपको पैतृक भूमि (Land And Property Transfer) या अपने नाम की संपत्ति बनाने के (Land For Sale) लिए किसी भी तरह का पैसा खर्च करने की आवश्यकता नहीं है सरकार का महाराष्ट्र भूमि रिकॉर्ड नया जीआर आया है पुश्तैनी जमीन है यह सिर्फ 100 रुपये के स्टांप पेपर पर आपके नाम से किया जा सकता है। यहां प्रक्रिया और कहां आवेदन करना है, इसके बारे में पूरी जानकारी दी गई है। पुश्तैनी जमीन अपने नाम कैसे ट्रांसफर करें। आइए जानें नाम से खेती कैसे करें इसके बारे में और जानकारी।

भारत में भूमि का रिकार्ड कौन रखता है?

पटवारी : एक सरकारी अधिकारी होता है जिसकी प्राथमिक भूमिका उन गाँवों की सभी भूमि का रिकॉर्ड रखना है जिनकी वह देखरेख करता है। पटवारी को ग्राम लेखाकार के रूप में भी जाना जाता है। पटवारी सरकार और किसानों के बीच संपर्क सूत्र का काम करता है।

सिर्फ 100 रुपए में आपके नाम होगी वडिलोपार्जित जमीन,

यहां देखें क्लिक करके सरकारी निर्णय (GR) क्या है

पैतृक भूमि के नामकरण में कई कठिनाइयाँ आती हैं। (Ancestral land) ज्यादातर समय लोग ऊब जाते हैं क्योंकि समय बहुत सीमित होता है और बहुत सारा पैसा भी बर्बाद होता है। और इस प्रोसेस को इग्नोर करें और इस काम को बाद में करें। वे इस सोच के साथ स्थगित कर देते हैं कि वे इसे बाद में करेंगे। लेकिन, कई बार इससे कुछ और समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। और इसका परिणाम यह होता है कि हम अपनी ही पुश्तैनी संपत्ति या जमीन खो देते हैं। Land transfer record

गुगल पे दे रहा है सिर्फ 5 मिनट में ₹1 लाख तक का पर्सनल लोन

यहां से करें अपने मोबाइल पर आवेदन

इन सभी समस्याओं से बचने और ऐसी घटनाओं को होने से रोकने के लिए सरकार ने एक नया सरकारी फैसला (GR) जारी किया है। तो वास्तव में यह सरकारी निर्णय (GR) क्या है। और जमीन का नाम कराने में कितना खर्च आएगा। इस सब के बारे में यह जानकारी देखें। इसीलिए यह लेख आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है।

पुरानी व्यवस्था के अनुसार या पुराने सरकारी कानून के अनुसार पैतृक भूमि को बेटी या बेटे के नाम पर स्थानांतरित करने के लिए हमें जमीन या संपत्ति के बाजार मूल्य पर सरकार को स्टांप शुल्क देना पड़ता था। लेकिन सरकार के नए फैसले (GR) के अनुसार हमें केवल 100 रुपये चार्ज करना होगा। एक सौ हम तहसीलदार को रुपये के स्टाम्प पर आवेदन कर सकते हैं। पैतृक भूमि यानी अपने पिता या परिवार के किसी सदस्य की मृत्यु के बाद किसी नए उत्तराधिकारी के नाम पर उसकी भूमि का हस्तांतरण अब नई प्रक्रिया के अनुसार बहुत आसान हो गया है। Land transfer record

इस तारीख को बैंक खाते में आएंगे नमो शेतकारी योजना की पहली किस्त 6000 हजार रुपये

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button